Ling in hindi: लिंग का सही मायने में अर्थ एवं इसके प्रकार उदहारण सहित 2024-25

संज्ञा के जिस रूप से व्यक्ति या वस्तु की नर या मादा जाती का बोध हो, उसे लिंग (ling) कहते हैं| अर्थात लिंग शब्द की जाती को दर्शाता हैं| लिंग के दो भेद होते हैं- पुल्लिंग और स्त्रीलिंग|

Ling
Ling

लिंग (Ling) का अर्थ एवं परिभाषा

लिंग (Ling) संस्कृत भाषा का एक शब्द हैं, जिसका अर्थ होता हैं- निशान या चिन्ह| अर्थात लिंग संज्ञा शब्दो में पुरुष या स्त्री जाती होने का बोध कराता हैं| जिस संज्ञा शब्द से व्यक्ति की जाती का पता चलता हैं, उसे लिंग कहते हैं| लिंग के माध्यम से ही हमें यह ज्ञात हो पता हैं, कि कोई भी व्यक्ति या वस्तु नर जाती का हैं, या मादा जाती का हैं| जैसे- बैल, मोर, लड़का, गाय, बकरी, लड़की इत्यादि|

लिंग (Ling) के भेद

पुरुष तथा स्त्री जाती का बोध कराने के लिए लिंग के दो भेद होते हैं-

  • पुल्लिंग
  • स्त्रीलिंग

पुल्लिंग (Pulling)

जिन शब्दो से पुरुष जाती का बोध होता हैं, उसे पुल्लिंग (Pulling) कहते हैं| दूसरे शब्दों में पुल्लिंग संज्ञा के शब्दों से पुरुष जाती का बोध होता हैं| जैसे- खटमल, पिता, घोडा, बन्दर, कुत्ता, लड़का, राजा इत्यादि|

पुल्लिंग की पहचान कैसे करे?

जिन शब्दो के अंत में अ, त्व, आ, आव, पा, पन, न, क, औडा इत्यादि प्रत्यय आये वे पुल्लिंग होते हैं| जैसे- मन, तन, राम, कृष्ण, बचपन, वन, शेर, बुढ़ापा इत्यादि| कुछ ऐसे संज्ञाए भी हैं, जो हमेशा पुल्लिंग रहती हैं| जैसे- खरगोश, चीता, खटमल, भेड़िया, मच्छर इत्यादि| पुल्लिंग की पहचान कई तरह के नमो से हो सकता हैं, जैसे- दिन, पेड़, पर्वत, सागर, फूल इत्यादि| इसका सम्पूर्ण जानकारी निचे दिया गया हैं|

  • दिनों के नाम- सोमवार, मंगलवार, बुधवार, वीरवार, शुक्रवार, शनिवार, रविवार इत्यादि|
  • पर्वतो के नाम- हिमालय, एवरेस्ट, सतपुड़ा इत्यादि|
  • देशो के नाम- भारत, अमेरिका, चीनइत्यादि|
  • नगरों के नाम- दिल्ली, लखनऊ, कोलकाता चेन्नई इत्यादि|
  • फलो के नाम- केला, आम, अमरुद इत्यादि|
  • अनाजों के नाम- गेहूं, बाजरा, चना, इत्यादि|
  • फूलो के नाम- कमल, गुलाब, गेंदा इत्यादि|
  • सागर के नाम- हिन्द महासागर, प्रशांत महासागर, अरब सागर इत्यादि|
  • शरीर के अंगो के नाम- हाथ, पैर, अंगूठा, सिर, मुँह, दांत इत्यादि|
  • धातुओं के नाम- ताम्बा, लोहा, सोना, पारा इत्यादि|

स्त्रीलिंग (Striling)

जिन शब्दो से स्त्री जाती का बोध होता हैं, उसे स्त्रीलिंग (Striling) कहते हैं| दूसरे शब्दों में स्त्रीलिंग संज्ञा के शब्दों से स्त्री जाती का बोध होता हैं| जैसे- माता, लड़की, बकरी, लक्ष्मी, औरत इत्यादि|

स्त्रीलिंग की पहचान कैसे करे?

जिन शब्दों के अंत में ख, ट, वट, हट, आनी, आ, ता, आई, आवट, इया, आहट इत्यादि प्रत्यय आये वे स्त्रीलिंग होते हैं| जैसे- आहाट, शत्रुता, राख, कड़वाहट, सजावट इत्यादि| स्त्रीलिंग में भी कुछ ऐसे संज्ञाए हैं, जो हमेशा स्त्रीलिंग रहती हैं| जैसे- मक्खी, तितली, कोयल, मछली, मैना इत्यादि| स्त्रीलिंग की पहचान कई तरह के नामो से हो सकता हैं| जैसे- भाषा, मशाले, नदिया, पुस्तक इत्यादि| इसका सम्पूर्ण जानकारी निचे दिया गया हैं|

  • नक्षत्रो के नाम- भरणी, रेवती, चित्रा इत्यादि|
  • बोलियों के नाम- ब्रज, बुंदेली, हिंदी इत्यादि|
  • नदियों के नाम- गंगा, यमुना, रावी, कावेरी, गोदावरी इत्यादि|
  • पुस्तकों के नाम- रामायण, गीता, कुरान इत्यादि|
  • आहारों के नाम- रोटी, सब्जी, दाल इत्यादि|
  • आभूषणो के नाम- चूड़ी, बिंदी, पायल, माला, नथ इत्यादि|
  • परिधानों के नाम- सलवार, चुन्नी, साड़ी, कमीज़ इत्यादि|
  • मसालों के नाम- लौंग, हल्दी, मिर्च, दालचीनी, चाय इत्यादि|

वह कौन-कौन से शब्द हैं, जो पुल्लिंग तथा स्त्रीलिंग दोनों में प्रयुक्त होते हैं?

हिंदी में ऐसे कई सारे शब्द हैं जिसका प्रयोग पुल्लिंग (Pulling) और स्त्रीलिंग (Striling) दोनों के लिए सामान रूप से किया जाता हैं| इन शब्दों में ऐसा कोई भेद नहीं हैं, जो सिर्फ केवल पुरुष के लिए इस्तमाल किया जाय या सिर्फ स्त्री के लिए इस्तमाल किया जाय| इन शब्दों का सामान रूप से प्रयोग किया जाता हैं| निचे सारे शब्द दिए गए हैं-

  • प्रधानमंत्री
  • मुख्यमंत्री
  • राष्ट्रपति
  • उपराष्ट्रपति
  • मेहमान
  • मंत्री
  • बर्फ
  • चित्रकार
  • मैनेजर
  • प्रोफेसर
  • शिशु
  • पत्रकार
  • गवर्नर
  • वकील

100 से अधिक पुल्लिंग और स्त्रीलिंग के शब्द

निचे 100 से अधिक पुल्लिंग और स्त्रीलिंग शब्दों का विवरण दिया गया हैं-

पुल्लिंगस्त्रीलिंग
हलवाई हलवाईन
गुरु गुरुआइन
तोता मादा तोता
पालक पालिका
बालक बालिका
पड़ोस पड़ोसिन
बलवान बलवती
बकरा बकरी
सिंह सिहनी
दर्जी दर्जिन
बाबू बबुआइन
दंडी दंडिनी
गुड्डा गुड़िया
महान महती
साधु साध्वी
दादा दादी
घोडा घोड़ी
नर मादा
गधा गधी
नालानाली
मेहतर मेहतरानी
जेठ जेठरानी
देवर देवरानी
पंडित पंडिताईन
ठाकुर ठाकुरानी
बनिया बनियाइन
बाघ बाघिनि
तेली तेलिनी
मोटा मोटी
बन्दर बन्दरी
युवक युवती
चूहाचुहिया
सन्यासी सन्यासिनी
बेटाबिटिया
लोटा लुटिया
बूढ़ा बूढीया
कुत्ता कुत्तिया
तनुज तनुजा
पूज्य पूज्या
सेवक सेविका
स्वामी स्वामिनी
तपस्वी तपस्विनी
मच्छर मादा मच्छर
श्रीमानश्रीमती
बुद्धिमान बुद्धिमती
सेठ सेठरानी
लड़का लड़की
गंगा गूंगी
देव देवी
नर नारी
भाग्यवान भाग्यवती
आयुष्मान आयुष्मती
धनवान धनवती
चंचलचंचलता
नेतानेत्री
धाता धात्री
अभिनेता अभिनेत्री
ऊंट ऊंटनी
शेर शेरनी
फूफा बुआ
माता पिता
गाय बैल
भाई बहन
कबूतर कबूतरी
काला काली
पोता पोती
राजा रानी
अध्यापकअध्यापिका
संपादक संपादिका
मर्द औरत
पुत्रकन्या
माली मालिनी
धोबी धोबिनी
दाता दात्री
भक्षक भक्षिकानायक
नाती नातिन
कुम्हारकुम्हारिन
बाघ बाघिन
सांपसाँपिन
श्याम श्यामा
प्रिय प्रिया
रचयिता रचयित्री
बिधाता बिधात्री
वक्ता वक्त्रि
ग्वाला ग्वालिन
वर वधू
सूत सुता
हितकारी हितकारिनी
परोपकारी परोपकारिनी
दासदासी
नागनागिन
मामा मामी
बिलाव बिल्ली
बेटा बेटी
गायकगायिका
पाठकपाठिका
चालक चालिका
भीलभीलनी
हंसहँसनी
मोरमोरनी
चोरचोरनी
हाथीहथिनी
माँबाप
100 से अधिक पुल्लिंग और स्त्रीलिंग के शब्द

FAQs

लिंग को कितने भागो में बाटा गया हैं?

लिंग को दो भागो में बाटा गया हैं- पुल्लिंग और स्त्रीलिंग|

कुछ पुल्लिंग और स्त्रीलिंग शब्दों के उदाहरण दो?

कुछ पुल्लिंग और स्त्रीलिंग शब्दों के उदाहरण-
पुल्लिंग– तपस्वी, माता, सांप इत्यादि|
स्त्रीलिंग– तपस्विनी, पिता, साँपिन इत्यादि|

वक्ता का स्त्रीलिंग क्या होगा?

वक्ता का स्त्रीलिंग वक्त्रि होगा|

यह भी जाने
संज्ञा क्या है-परिभाषा एवं भेद उदाहरण सहित: 2024-25
क्या वर्ण तथा हिंदी वर्णमाला अलग-अलग होते हैं?
सर्वनाम किसे कहते हैं? इसके भेद एवं सम्पूर्ण जानकारी उदाहरण सहित
विशेषण की परिभाषा एवं इसके भेद उदाहरण सहित 2024-2025
जाने अव्यय का सही मायने में अर्थ, परिभाषा और भेद उदाहरण सहित

Social Media Link
Facebookhttps://www.facebook.com/profile.php?id=61557041321095
Telegramhttps://web.telegram.org/a/#-1002059917209
Social Media Link

1 thought on “Ling in hindi: लिंग का सही मायने में अर्थ एवं इसके प्रकार उदहारण सहित 2024-25”

Leave a Comment